India and Ireland are confident for their election for non-permanent member of the UN Security Council (2021-2022)

Today world is facing unprecedented challenges in public health, economy and global peace, people look to the United Nations to play a constructive role in resolving them. Unfortunately, the UN is failing in its vital responsibilities. Today world needs an independent and transparent UN system, to act impartially without fear, favour or prejudices of the permanent veto members (P5).

Both India and Ireland have shared history and understanding of global issues, so it is a unique opportunity for both Ireland and India to work for the best interest of people and humanity.

भारत और आयरलैंड संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (2021-2022) के गैर-स्थायी सदस्य के लिए अपने चुनाव के लिए आश्वस्त हैं।

आज दुनिया सार्वजनिक स्वास्थ्य, अर्थव्यवस्था और वैश्विक शांति में अभूतपूर्व चुनौतियों का सामना कर रही है, लोग उन्हें हल करने में रचनात्मक भूमिका निभाने के लिए संयुक्त राष्ट्र की ओर देखते हैं। दुर्भाग्य से, संयुक्त राष्ट्र अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों में विफल हो रहा है। आज विश्व को स्थायी वीटो सदस्यों (P5) के भय, पक्ष या पूर्वाग्रहों के बिना निष्पक्ष रूप से कार्य करने के लिए एक स्वतंत्र और पारदर्शी संयुक्त राष्ट्र प्रणाली की आवश्यकता है।

भारत और आयरलैंड दोनों ने वैश्विक मुद्दों के इतिहास और समझ को साझा किया है, इसलिए यह आयरलैंड और भारत दोनों के लिए लोगों और मानवता के सर्वोत्तम हित के लिए काम करने का एक अनूठा अवसर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.